Tuesday, 16 January 2018, 8:32 PM

ज्योतिष एवं वास्तु

रामायण के ये मुख्य पात्र, जिन्होंने महाभारत में भी निभाई है महत्वपूर्ण भूमिका

Updated on 3 December, 2017, 7:20
हम सब रामायण के सभी पात्रों से जरूर वाकिफ होंगे लेकिन हम में  से शायद ही किसी को पता हो कि इस महाकाव्य में निभाए गए उन सभी पात्रों ने महाभारत में भी अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। आईए जानतें हैं उन्हीं पौराणिक पात्रों के बारे में-   हनुमानजी रामायण में प्रमुख भूमिका... आगे पढ़े

मोर पंख से चमकेगी किस्मत और मिटेगीं परेशानियां

Updated on 3 December, 2017, 6:45
घर में हमेशा अशांति बनी रहती है या घर में बरकत नहीं होती है। क्या ये सभी समस्याएं आपके घर के वास्तुदोष की वजह से तो नहीं है। अगर आपके घर में वास्तु को लेकर कोई समस्या है तो डरने की कोई बात नहीं है। आज हम आपको वास्तुदोष के... आगे पढ़े

त्रिपुर भैरवी जयंती : महाकाली की छाया से प्रकट हुई देवी त्रिपुर भैरवी

Updated on 3 December, 2017, 6:30
रविवार दिनांक 03.12.17 को मार्गशीर्ष पूर्णिमा के उपलक्ष्य में त्रिपुर भैरवी जयंती मनाई जाएगी। मूल प्रकृति आद्या शक्ति के दश महाविद्या की श्रेणी में देवी त्रिपुर-भैरवी छठी महाविद्या कहलाती हैं। शब्द 'त्रिपुर' का अर्थ है, त्रिलोक अर्थात स्वर्ग, पृथ्वी तथा पाताल व शब्द 'भैरवी' का अर्थ है भय का विनाश।... आगे पढ़े

पुष्पक विमान और लंका को अपना बनाने के लिए रावण ने रचे थे ये खेल

Updated on 2 December, 2017, 7:00
कुबेर रावण का सौतेला भाई था। कुबेर धनपति था। कुबेर ने लंका पर राज कर उसका विस्तार किया था। रावण ने कुबेर से लंका को हड़पकर उस पर अपना शासन कायम किया। ऐसा माना जाता है कि लंका को भगवान शिव ने बसाया था। भगवान शिव ने पार्वती के लिए... आगे पढ़े

ग्रहों के अनुसार ही मिलता है घर, वास्तु दोष से राहु मचाता है उथल-पुथल

Updated on 2 December, 2017, 6:45
सामान्य प्रचलित धारणा के अनुसार यदि कुंडली में सात ग्रह (सूर्य, चंद्र, मंगल, बुध, गुरु, शुक्र और शनि) जब राहू-केतु के बीच स्थित हो जाते हैं तो कालसर्प योग माना जाता है या बनता है। सामान्यत: यदि किसी जातक (व्यक्ति) की जन्मकुंडली में कालसर्प योग होता है तो उसे जिंदगी... आगे पढ़े

कार्तिगई दीपम पर्व : संध्या के समय काली गाय को खिलाएं ये चीज

Updated on 2 December, 2017, 6:30
शनिवार दी॰ 02.12.17 मार्गशीर्ष शुक्ल चतुर्दशी व कृतिका नक्षत्र के उपलक्ष में शनिवारीय कार्तिगई दीपम पर्व मनाया जाएगा। हर महीने मनाया जाने वाला कार्तिगई दीपम दक्षिण संस्कृति का सबसे प्राचीन पर्व माना जाता है। कार्तिगई दीपम पर्व की उत्पत्ति का मूल सूर्य का नक्षत्र कृतिका है। ज्योतिषशास्त्र में अग्निदेव को... आगे पढ़े

इस मंत्र केे जाप से मिलता है संपूर्ण भागवत का फल

Updated on 1 December, 2017, 7:40
धर्म शास्त्रों के अनुसार, भागवत का पाठ करने से पुण्य मिलता है और पाप का नाश होता है, लेकिन वर्तमान समय में संपूर्ण भागवत पढ़ने का समय शायद ही किसी के पास होगा। ऐसे में आज हम आपको एक एेसे मंत्र के बारे में बताएंगे जिसका रोजाना विधि-विधान से जप... आगे पढ़े

चुटकी भर नमक करेगा ग्रहों के दुष्प्रभावों को खत्म

Updated on 1 December, 2017, 7:00
ज्योतिष शास्त्र की शाखा वास्तु शास्त्र के अनुसार नमक में गजब की शक्ति होती है जो न सि र्फ आपके घर को सकारात्मक उर्जा से भर देती है बल्किी आपके घर में सुख समृद्धि भी बढ़ाने का काम करती है। सदियों से नमक का प्रयोद नैगेटिव एेनैर्जी को यानि नकारत्मक... आगे पढ़े

शुक्र प्रदोष : ये है व्रत विधि, कथा एवं पूजन मुहूर्त

Updated on 1 December, 2017, 6:30
शुक्रवार दिनांक 01.12.17 को मार्गशीर्ष माह के शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी तिथि के उपलक्ष में शुक्र प्रदोष पर्व मनाया जाएगा। प्रदोष हर माह में दो बार अर्थात शुक्ल या कृष्ण पक्ष की तेरस को मनाया जाता है। मूलतः हर माह की त्रयोदशी तिथि परमेश्वर शिव को समर्पित है। शब्द "प्रदोष"... आगे पढ़े

भगवान के आंसुओं से हुई थी रद्राक्ष नामक वृक्ष की उत्पत्ति

Updated on 30 November, 2017, 7:20
पुराणों के अनुसार रद्राक्ष की उत्पत्ति भगवान शंकर की आंसुओं से हुई थी। रद्राक्ष की माला को धारण करने से सकारात्मक ऊर्जा मिलती है। रुद्राक्ष शिव का वरदान है, जो संसार के भौतिक दु:खों को दूर करने के लिए प्रभु शंकर ने प्रकट किया था। इसके बारे में पुराणों में... आगे पढ़े

श्री कृष्ण ने कहा, ज्ञानी व्यक्ति को चौकोर घर में वास नहीं करना चाहिए

Updated on 30 November, 2017, 7:00
घर में बीमारियां और परेशानियां सदा अपना सिर उठाए रखती हैं तो आपके आशियाने पर नकारात्मकता हावी है। शास्त्रों में घर को मन्दिर कहा गया है इसलिए घर का वातावरण सात्विक होना चाहिए। घर के अन्दर एवं बाहर साफ-सफाई एवं स्वच्छता का पूर्ण ध्यान रखना चाहिए। सुबह एवं शाम मंदिर... आगे पढ़े

विफलता को सफलता में बदल देंगे वास्तु के ये आसान फंडे

Updated on 30 November, 2017, 6:45
कई बार इंसान के मन में अनेकों प्रकार के डर घर करने लगते हैं जिनकी वजह से व्यक्ति अपना अात्मविश्वास खोने लगता है। जिसके परिणाम स्वरूप व्यक्ति को सफलता की जगह असफलता का सामना करना पड़ता है। लेकिन वास्तु और फेंगशुई में कुछ ऐसे उपाय बताए गए है, जिनकी मदद... आगे पढ़े

जानमाल की रक्षा हेतू आज बन रहे विशेष योग में करें पूजन

Updated on 30 November, 2017, 6:30
गुरुवार दी॰ 30.11.17 मार्गशीर्ष शुक्ल द्वादशी पर मत्स्य द्वादशी पर्व मनाया जाएगा। कृत्यकल्पतरु व हेमाद्रि के व्रतखण्ड, कृत्यरत्नाकर तथा वराह व ब्रह्म पुराण आदि शास्त्रों के अनुसार मार्गशीर्ष शुक्ल ग्यारस के उपवास को पूर्ण करने के बाद द्वादशी को मंत्र सहित मिट्टी लाई जाती है व उसे आदित्य को विधिपूर्वक... आगे पढ़े

दुनिया के एेसे मंदिर जहां भगवान नहीं असुरों की होती है पूजा

Updated on 29 November, 2017, 7:20
हिंदू साहित्य में वेद-पुराणों को भारत का प्रमाणिक इतिहास का दर्जा प्राप्त है। कोई भी देश या कोई भी इतिहास पर शोध करने वाली संस्था इन वेदों-पुराणों को अप्रमाणिक मानती हो लेकिन भारत का हर आदमी वेदों और पुराणों को ही देश का इतिहास समझता है। यह वेद पुराण आर्यों,... आगे पढ़े

अधिक मेहनत से भी मिल रही है निराशा, करें ये काम जल्द होंगे successful

Updated on 29 November, 2017, 6:45
काम ​कैसा भी क्यों ना हो यदि आप उस पर मन लगाते हैं तो वह सफल हो जाता है, लेकिन कई बार अधिक मेहनत करने पर भी वो सब हासिल नहीं हो पाता जिसकी हम कामना करते हैं। ये सब घर से संबधित वास्तु की कई गलतियों के कारण हो... आगे पढ़े

मोक्षदा एकादशी: इस विधि से करें पूजन और व्रत, ये है पारण समय

Updated on 29 November, 2017, 6:30
पितरों का उद्घार करने व सभी पातकों का हरण करने के लिए करें मोक्षदा एकादशी का व्रत मार्गशीर्ष मास के शुक्ल पक्ष में किए जाने का विधान है। ये एकादशी मोक्षप्रदायिणी है इसी कारण यह मोक्षदा नाम से प्रसिद्घ है। इस वर्ष यह व्रत 30 नवम्बर को किया जाएगा। भगवान... आगे पढ़े

वास्तु दोष मिटाने के साथ पुण्य प्राप्ति भी दिलाएंगे कपूर के ये अद्भुत उपाय

Updated on 28 November, 2017, 7:00
कपूर उड़नशील वानस्पतिक द्रव्य है। यह सफेद रंग का मोम की तरह का पदार्थ होता है। इसमे एक तीखी गंध होती है। कपूर को संस्कृत में कर्पूर, फारसी में काफूर और अंग्रेजी में कैंफर कहते हैं। अक्सर लोग इसे आरती की थाल में रखते हैं क्योंकि आरती के बाद इसे... आगे पढ़े

आज करें ये महा टोटका, बढऩे लगेगी धन-संपत्ति

Updated on 28 November, 2017, 6:30
आज मंगलवार दि॰ 28.11.17 को मार्गशीर्ष शुक्ल दशमी को भगवान विष्णु के दशावतार का पूजन श्रेष्ठ रहेगा। वैसे तो हर माह की दशमी भगवान विष्णु को दशहरे के रूप में समर्पित है परंतु मार्गशीर्ष शुक्ल दशमी के बारे में कहा गया है शुद्धा, विद्या व नियम आदि का निर्णय यथापूर्व... आगे पढ़े

मां लक्ष्मी को एक गलती की भगवान विष्णु ने दी एेसी सजा

Updated on 27 November, 2017, 7:20
एक बार भगवान विष्णु के मन में धरती पर घूमने का विचार आया और वह अपनी यात्रा की तैयारी में लग गए। स्वामी को देख कर मां लक्ष्मी ने पूछा, आप कहां जा रहे हैं तो विष्णु जी ने कहा लक्ष्मी मैं धरती लोक पर घूमने जा रहा हूं तो... आगे पढ़े

बुजुर्गों की बताई इन बातों पर करेंगे अमल तो घर में बरकरार रहेगी बरकत

Updated on 27 November, 2017, 6:45
जीवन में सुख-समृद्धि लाने के लिए हमारे बुजुर्गों ने वास्तु के कुछ एेसे उपाय बताए हैं जिनको नित्य करने से व्यक्ति अपनी समस्त परेशानियों से छूटकारा पा सकता है। लेकिन मनुष्य आधुनिक मानसिकता के कारण इसे भूलता जा रहा है और अपने जीवन की मुसीबतों से मुक्ति पाने के लिए... आगे पढ़े

सोम दुर्गाष्टमी: इस मुहूर्त में करें पूजन, जमीन जायदाद व सुख-सुविधा में होगी वृद्धि

Updated on 27 November, 2017, 6:30
सोमवार दि॰ 27.11.17 को मार्गशीर्ष शुक्ल अष्टमी पर सोम दुर्गाष्टमी पर्व मनाया जाएगा। भविष्य पुराण के उत्तर-पूर्व में दुर्गाष्टमी पूजन हेतु श्रीकृष्ण व युधिष्ठिर का संवाद है जिसमें दुर्गाष्टमी पूजन का स्पष्ट वर्णन है। दुर्गाष्टमी पूजन प्रत्येक युग, कल्पों व मन्वंतरों में किया जाता था। पौराणिक मतानुसार दुर्गम राक्षस के... आगे पढ़े

इस श्राप के कारण भीष्म पितामह को पृथ्वी पर रहकर भोगने पड़े दुख

Updated on 26 November, 2017, 7:40
हिंदू धर्म में गंगा को सबसे पूजनीय नदी माना गया है। गंगा के संबंध में अनेक पुराणों में कई कथाएं हैं जिससें हमें इनके महत्व और इतिहास के बारे में पता लगता है। महाभारत के सबसे प्रमुख पात्र भीष्म पितामह हस्तिनापुर के राजा शांतनु तथा देवनदी गंगा के ही पुत्र... आगे पढ़े

राधा के पति अभिमन्यु, सास और ननद के बारे में भी जान लीजिए

Updated on 26 November, 2017, 7:00
आपने कान्हा और राधा की प्रेम कहानी के बारे में तो बहुत कुछ पढ़ा और सुना होगा। राधा रानी का जन्म स्थान और उनसे जुड़े बहुत-सी साक्ष्य भक्त देखते हैं। आज हम आपको बताएंगे राधारानी के ससुराल के बारे में। जी हां, कुछ मान्यताओं के अनुसार राधारानी का विवाह हुआ... आगे पढ़े

घर के आभामंडल पर बुरा प्रभाव डालती है नकारात्मक ऊर्जा

Updated on 26 November, 2017, 6:45
प्रत्येक व्यक्ति का अपना एक अलग आभामंडल होता है। अर्थात हमारे शरीर के आसपास रहने वाली अदृश्य ऊर्जा। यह ऊर्जा समाज और घर-परिवार में हमारी अच्छी या बुरी छवि को निर्मित करती है। जिस प्रकार इंसान का आभामंडल होता है, ठीक उसी प्रकार घर का भी आभामंडल होता है। यदि... आगे पढ़े

भानु सप्तमी पर होगा गरीबी का सफाया

Updated on 26 November, 2017, 6:30
आज रविवार दि॰ 26.11.17 मार्गशीर्ष शुक्ल सप्तमी के उपलक्ष्य में भानु सप्तमी पर्व मनाया जाएगा। रविवार के दिन सप्तमी तिथि के संयोग से भानु सप्तमी नामक विशेष पर्व का सृजन होता है। सनातन संस्कृति व पौराणिक ग्रंथों में भानु सप्तमी को अत्यधिक शुभ माना गया है। इस दिन सूर्यदेव के... आगे पढ़े

यह है वो पवित्र स्थली, जहां धरती में समाई थी सीता मैय्या

Updated on 25 November, 2017, 7:40
उत्तरी भारत के पंजाब राज्य में अमृतसर से 11 कि.मी दूर अमृतसर-चौगावा रोड पर प्राचीन व ऐतिहासिक धार्मिक स्थल ‘श्री राम तीर्थ मंदिर’ स्थित है। यह मंदिर भगवान राम को समर्पित है। न केवल इस मंदिर का, अपितु इस पावन स्थली का भी इतिहास रामायण काल से जुड़ा हुआ है।... आगे पढ़े

कलयुग के न्यायधीश शनि देव दिलवलाते हैं कुंडली के सबसे बड़े दोष से मुक्ति

Updated on 25 November, 2017, 7:00
ज्योतिषशास्त्र की दृष्टि से कुण्डली में निर्मित पितृदोष जीवन में समस्याओं तथा बाधाओं का कारण है। ज्योतिष के मतानुसार पितृदोष को कष्टकारी और बाधक योग माना जाता है। किसी भी जातक की जन्मकुंडली में पितृदोष का कारण सूर्य, शनि, राहु और केतु ग्रह की स्थिति होती है। कुण्डली में पितृदोष... आगे पढ़े

तंत्र क्रियाओं में उपयोग होता है ये फूल, सही तरीके से करें इस्तेमाल मिलेगी जायदाद

Updated on 25 November, 2017, 6:30
तंत्र क्रियाओं में उपयोग होने वाली सामग्री में एक ऐसा फूल है, जो किसी भी व्यक्ति के जीवन में धन की कमी को पूरा कर सकता है। इस शुभ वनस्पति का नाम है नागकेसर, इसे दरिद्रता भगाने वाला फूल कहा जाता है। इस फूल का सही तरीके से इस्तेमाल करने... आगे पढ़े

वास्तु दोषों के कारण रानी पद्मावती को करना पड़ा जौहर

Updated on 24 November, 2017, 6:45
प्राचीनकाल से लगभग सभी राजा सामरिक दृष्टि से दुर्ग का निर्माण पहाड़ों पर करते रहे हैं। राजस्थान के दक्षिण-पूर्वी पठारी भाग में अरावली पहाड़ियों के दक्षिण-पूर्व स्थित एक पहाड़ी पर मजबूत प्राचीरों से घिरा चित्तौड़गढ़ का दुर्ग 7वीं शताब्दी में मौरी राजपूतों ने बनवाया था। 150 मीटर की ऊंचाई वाली... आगे पढ़े

चंपा षष्ठी : पूजन-व्रत व उपाय से महादेव को करें प्रसन्न, ग्रह पीड़ा का होगा अंत

Updated on 24 November, 2017, 6:30
शुक्रवार दी॰ 24.11.17 को मार्गशीर्ष शुक्ल षष्ठी के उपलक्ष में चंपा षष्ठी व बैंगन छठ पर्व मनाया जाएगा। यह पर्व महादेव के मार्तंडाय-मल्लहारी स्वरूप को समर्पित है। पौराणिक किवंदीती के अनुसार महादेव ने मणि-मल्ह दैत्य भाइयों से छह दिनों तक खंडोबा नामक स्थान पर युद्ध करके चंपा षष्ठी पर दोनों... आगे पढ़े

Visitor Counter