Tuesday, 21 May 2019, 2:44 AM

ज्योतिष एवं वास्तु

रविवार को पहनें सूर्य का खूबसूरत रत्न माणि‍क,जानिए क्यों व किसके साथ पहनें?

Updated on 31 March, 2019, 6:00
माणिक सब रत्नों का राजा माना गया है। कहने का मतलब यह रत्न अनमोल है। यह रत्न सूर्य ग्रह का प्रतिनिधित्व करता है और इसे सूर्य के कमजोर व पत्रिकानुसार स्थिति जानकर इस रत्न को धारण करने का विधान है। इसके बारे में एक धारणा यह है कि माणिक की... आगे पढ़े

मंत्रों की तरंगें चारों तरफ फैल जाती हैं और लाती हैं शुभता... जानिए मंत्रों का रहस्य

Updated on 30 March, 2019, 6:45
मंत्र शब्दों का एक खास क्रम है जो उच्चारित होने पर एक खास किस्म का स्पंदन पैदा करते हैं, जो हमें हमारे द्वारा उन स्पंदनों को ग्रहण करने की विशिष्ट क्षमता के अनुरूप ही प्रभावित करते हैं। हमारे कान शब्दों के कुछ खास किस्म की तरंगों को ही सुन पाते... आगे पढ़े

आपने नहीं पढ़ी होगी गणगौर माता की यह अनूठी कहानी, देती है सदा सुहागिन का वरदान

Updated on 30 March, 2019, 6:30
एक बार भगवान शंकर तथा पार्वतीजी नारदजी के साथ भ्रमण को निकले। चलते-चलते वे चैत्र शुक्ल तृतीया के दिन एक गांव में पहुंच गए। उनके आगमन का समाचार सुनकर गांव की श्रेष्ठ कुलीन स्त्रियां उनके स्वागत के लिए स्वादिष्ट भोजन बनाने लगीं। भोजन बनाते-बनाते उन्हें काफी विलंब हो गया। किंतु... आगे पढ़े

इन 10 तरीकों से करें हनुमानजी की सेवा, हर संकट मिटेगा और मिलेगा अपार सुख

Updated on 30 March, 2019, 6:15
कलिकाल में हनुमानजी की भक्ति ही कही गई है। हनुमानजी की निरंतर भक्त करने से भूत पिशाच, शनि और ग्रह बाधा, रोग और शोक, कोर्ट-कचहरी-जेल बंधन से मुक्ति, मारण-सम्मोहन-उच्चाटन, घटना-दुर्घटना से बचना, मंगल दोष, कर्ज से मुक्ति, बेरोजगार और तनाव या चिंता से मुक्ति मिल जाती है। हनुमानजी सर्वशक्तिमान और सर्वोच्च... आगे पढ़े

आरती के बाद क्यों बोला जाता है कर्पूर मंत्र?

Updated on 30 March, 2019, 6:00
किसी भी मंदिर में या हमारे घर में जब भी पूजन कर्म होते हैं तो वहां कुछ मंत्रों का जप अनिवार्य रूप से किया जाता है। सभी देवी-देवताओं के मंत्र अलग-अलग हैं, लेकिन जब भी आरती पूर्ण होती है तो यह मंत्र विशेष रूप से बोला जाता है- कर्पूरगौरं मंत्र कर्पूरगौरं करुणावतारं... आगे पढ़े

कब है गुड़ी पड़वा, कौन हैं इस वर्ष के राजा, क्या है इस संवत्सर का नाम, सब जानिए यहां

Updated on 29 March, 2019, 6:45
पंचांगीय गणना के अनुसार चैत्र शुक्ल प्रतिपदा से हिंदू नव वर्ष का प्रारंभ होता है। इस बार ये 6 अप्रैल 2019, शनिवार से होगा। इस संवत्सर का नाम परिधावी है। इस दिन रेवती नक्षत्र है। जिस दिन से संवत्सर की शुरुआत होती है, वह दिन या दिनाधिपति उस वर्ष का... आगे पढ़े

जैन धर्म के प्रथम तीर्थंकर भगवान ऋषभदेव का जन्मकल्याणक दिवस

Updated on 29 March, 2019, 6:30
जैन धर्म के प्रथम तीर्थंकर भगवान आदिनाथ का जन्म चैत्र कृष्ण नौवीं के दिन सूर्योदय के समय हुआ। उन्हें ऋषभदेव जी, ऋषभनाथ भी कहा जाता है। ऋषभदेव आदिनाथ भगवान का जन्म युग के आदि में राजा नाभिराय जी के यहां पर माता मरूदेवी की कोख में हुआ था। उन्हें जन्म... आगे पढ़े

घर का दरवाजा यदि ऐसा हुआ तो संकट के खुलेंगे द्वार

Updated on 29 March, 2019, 6:15
वास्तु और ज्योतिष शास्त्र में घर के दरवाजे के संबंध में कई महत्वपूर्ण बातें बताई गई हैं। हम यहां आपके लिए लाएं हैं कुछ ऐसे दरवाजों के बारे में जानकारी जिनसे घर में संकट पैदा होता है। इन्हें जानकर आप सतर्क हो सकते हैं।  ऐसे दरवाजे न हो- -दरवाजे टूटे फूटे नहीं... आगे पढ़े

31 मार्च को है पापमोचनी एकादशी, अपने नाम के अनुसार ही करती है समस्त पापों का नाश

Updated on 29 March, 2019, 6:00
* सभी तरह के पापों से मुक्ति दिलाने वाली पापमोचनी एकादशी रविवार को, जानिए महत्व हिन्दू कैलेंडर के अनुसार चैत्र मास में आने वाली एकादशी इस वर्ष 31 मार्च, 2019, रविवार को आ रही है। यह एकादशी सभी तरह के पापों से मुक्ति दिलाती है। चैत्र कृष्ण एकादशी का नाम पापमोचिनी... आगे पढ़े

6 अप्रैल को है गुड़ी पड़वा : जानिए पर्व में छुपा संदेश

Updated on 28 March, 2019, 6:45
गुड़ी पड़वा हिन्दू नववर्ष के रूप में भारत में मनाया जाता है। इस वर्ष यह 6 अप्रैल 2019 को आ रहा है। इस दिन सूर्य, नीम पत्तियां,अर्घ्य, पूरनपोली, श्रीखंड और ध्वजा पूजन का विशेष महत्व होता है। माना जाता है कि चैत्र माह से हिन्दूओं का नववर्ष आरंभ होता है।... आगे पढ़े

गुड़ी पड़वा विशेष : गुड़ी बनाकर समझें अपनी देह और जीवन को

Updated on 28 March, 2019, 6:30
'गुड़ी पड़वा', चैत्र शुक्ल प्रतिपदा यानी साढ़े तीन शुभ मुहूर्तों में से एक। सोने की लंका जीत राम के अयोध्या लौटने का दिन यानी चैत्र शुक्ल प्रतिपदा। जब अयोध्यावासियों ने गुड़ी तोरण लगाकर अपनी खुशी का इजहार किया था। बस तभी से चैत्र प्रतिपदा पर गुड़ी की परंपरा का श्रीगणेश... आगे पढ़े

सुहागिनों का पवित्र पर्व गणगौर शुरू, 8 अप्रैल को मनेगी गणगौर तीज, होगा शिव-पार्वती का पूजन

Updated on 28 March, 2019, 6:15
* गणगौर तीज पर्व, 16 श्रृंगार से सजेंगी सुहागिनें 22 मार्च 2019 यानी होली के दूसरे दिन चैत्र कृष्ण प्रतिपदा से 16 दिवसीय गणगौर पूजा का पर्व शुरू हो गया। गणगौर मुख्यत: राजस्थान में मनाया जाने वाला पर्व है। यह पर्व विशेष रूप से सुहागिन महिलाएं मनाती हैं। सुहागिनें अपनी पति... आगे पढ़े

भगवान ऋषभदेव के 10 रहस्य, हर हिन्दू को जानना जरूरी

Updated on 28 March, 2019, 6:00
जैन और हिन्दू दो अलग-अलग धर्म हैं, लेकिन दोनों ही एक ही कुल और खानदान से जन्मे धर्म हैं। भगवान ऋषभदेव स्वायंभुव मनु से 5वीं पीढ़ी में इस क्रम में हुए- स्वायंभुव मनु, प्रियव्रत, अग्नीन्ध्र, नाभि और फिर ऋषभ। जैन धर्म में 24 तीर्थंकर हुए हैं। 24 तीर्थंकरों में से... आगे पढ़े

शांति और सेहत के लिए अवश्य कीजिए मां शीतला का पूजन, महत्व पढ़कर हैरान रह जाएंगे

Updated on 27 March, 2019, 6:45
शीतला सप्तमी पर ऋतु का अंतिम बासी भोजन किया जाता है और सीख ली जाती है कि अब गर्मी में बासी भोजन से परहेज करना है। इस वर्ष शीतला सप्तमी 27 मार्च को है जबकि शीतला अष्टमी 28 मार्च को है। जीवन में शांति और समृद्धि के लिए भी वर और... आगे पढ़े

शीतला पर्व पर सुनाई जाती है राजकुमारी शुभकारी की यह कथा

Updated on 27 March, 2019, 6:30
इंद्र द्युम्न नामक एक राजा था। वह एक उदार और गुणी राजा था। उसकी एक पत्नी थी जिसका नाम प्रमिला और पुत्री का नाम शुभकारी था। बेटी की शादी राजकुमार गुणवान से हुई थी। इंद्र द्युम्न के राज्य में, हर कोई हर साल उत्सुकता के साथ शीतला सप्तमी का व्रत रखता... आगे पढ़े

श्री शीतला चालीसा : शीतला माता पर्व पर एक बार भी पढ़ लिया तो रोग, शोक, दुख, दरिद्रता का नहीं रहेगा ना

Updated on 27 March, 2019, 6:15
मां शीतला एक प्रसिद्ध हिन्दू देवी हैं। इस देवी की महिमा प्राचीनकाल से ही बहुत अधिक है। ये देवी हाथों में कलश, सूप, मार्जन यानी झाड़ू तथा नीम के पत्ते धारण करती हैं। यह चेचक आदि कई रोगों की देवी बताई गई है। यहां पाठकों के लिए प्रस्तुत हैं शीतला... आगे पढ़े

शीतलाष्टक : शीतला पर्व पर इस पवित्र पाठ से मिलेगा आरोग्य का शुभ वरदान

Updated on 27 March, 2019, 6:00
।।श्री शीतलाष्टकं ।। ।।श्री शीतलायै नमः।। विनियोगः- ॐ अस्य श्रीशीतलास्तोत्रस्य महादेव ऋषिः, अनुष्टुप् छन्दः, श्रीशीतला देवता, लक्ष्मी (श्री) बीजम्, भवानी शक्तिः, सर्व-विस्फोटक-निवृत्यर्थे जपे विनियोगः ।। ऋष्यादि-न्यासः- श्रीमहादेव ऋषये नमः शिरसि, अनुष्टुप् छन्दसे नमः मुखे, श्रीशीतला देवतायै नमः हृदि, लक्ष्मी (श्री) बीजाय नमः गुह्ये, भवानी शक्तये नमः पादयो, सर्व-विस्फोटक-निवृत्यर्थे जपे विनियोगाय नमः सर्वांगे ।। ध्यानः- ध्यायामि... आगे पढ़े

28 मार्च को है शीतला अष्टमी का पर्व, जानिए पूजा का मुहूर्त

Updated on 26 March, 2019, 6:45
कुछ लोग सप्तमी को शीतला माता का पर्व मनाते हैं वे इसे 27 मार्च को मनाएंगे और जो अष्टमी को मनाते हैं वे इसे 28 मार्च को मनाएंगे।  शीतला माता पूजन के लिए महिलाएं प्रातःकाल सूर्योदय से पूर्व जागकर ठंडे पानी से नहाती हैं। और उसके बाद पूजा की सभी सामग्री... आगे पढ़े

शीतला सप्तमी-अष्टमी : कैसे की जाती है बसौड़ा की पूजा?

Updated on 26 March, 2019, 6:30
इस व्रत में मीठे चावल, हल्दी, चने की दाल और जल लेकर महिलाएं मंदिर जाती हैं। इस पूजा को बसौड़ा या फिर शीतला सप्तमी या अष्टमी कहा जाता है। इस पूजा में सबसे खास होते हैं बासी मीठे चावल, जिन्हें गुड़ या गन्ने के रस से बनाया जाता है। यही मीठे... आगे पढ़े

आरोग्य का आशीष देती हैं शीतला माता, जानिए पौराणिक कथा और इतिहास

Updated on 26 March, 2019, 6:15
शीतला माता का पर्व कभी माघ मास में शुक्ल पक्ष की षष्ठी को, कही वैशाख मास में कृष्ण पक्ष की अष्टमी को तो कही चैत्र मास में कृष्ण पक्ष की सप्तमी अथवा अष्टमी को मनाया जाता है। शीतला माता अपने साधकों के तन-मन को शीतल कर देती है तथा समस्त... आगे पढ़े

शीतला सप्तमी : शीतलता लेकर आता है, भीषण रोगों से बचाता है यह पवित्र पर्व

Updated on 26 March, 2019, 6:00
हिन्दू पंचांग के अनुसार, चैत्र महीने के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को बसोड़ा पूजन किया जाता है। जिसमे शीतला माता की पूजा की जाती है। बसोडा को शीतला अष्टमी के नाम से भी जाना जाता है। सामान्यतौर पर यह होली के आठवें दिन मनाया जाता है। परन्तु बहुत से... आगे पढ़े

घर के भेद किसी को न बताएं स्त्री, हम नहीं ऐसा द्रौपदी ने कहा है, जानिए द्रौपदी की 4 और भी जरूरी सीख

Updated on 25 March, 2019, 6:45
महाभारत की सबसे खूबसूरत और रहस्यमयी महिला द्रौपदी है। पांच पतियों के बावजूद उसे संसार की श्रेष्ठतम चरित्र और गुणों वाली महिला माना गया है। द्रौपदी ने संसार की सभी नारियों को लेकर 4 महत्वपूर्ण बातें कही है। आइए जानते हैं... 1. द्रौपदी ने कहा है स्त्रियों को कभी भी छोटी... आगे पढ़े

रंगपंचमी पर रंगों में नहाने से पहले जान लीजिए कौन सा रंग आपकी किस्मत बदल सकता है

Updated on 25 March, 2019, 6:30
मेष राशि: लाल और पीला इस राशि के लिए सर्वाधिक शुभ रंग है। वृष राशि: काला तथा नीला रंग वृष राशि वालों के लिए सबसे अधिक अनुकूल है। मिथुन राशि: हरा और नीला रंग मिथुन राशि के लोगों इस रंगपंचमी पर सबसे उपयुक्‍त है। कर्क राशि: सफेद या चमकीले रंग के साथ कर्क... आगे पढ़े

रंगपंचमी होता है होली का अंतिम दिन, देवताओं के साथ जरूर खेलें रंग

Updated on 25 March, 2019, 6:15
2019 में रंग पंचमी 25 मार्च सोमवार को मनाई जाएगी। यह उत्सव होली के पांच दिन बाद आता है और इस पर्व का अंतिम दिन भी माना जाता है। चैत्र मास में कृष्ण पक्ष की पंचमी तिथि को रंग पंचमी का पर्व मनाया जाता है। इसी के चलते इसे रंग पंचमी... आगे पढ़े

अंगूठे में चांदी का छल्ला, क्या सचमुच करता है भला...?

Updated on 25 March, 2019, 6:00
अक्सर व्यक्ति मेहनत तो खूब करता है, लेकिन उसे मेहनत का पूरा फल नहीं मिल पाता है। यदि आपके साथ भी ऐसा हो रहा है, तो संभव है कि आपका शुक्र ग्रह या तो मजबूत स्थिति में नहीं है या फिर वह अशुभ फल दे रहा है। ऐसे में स्थितियों को... आगे पढ़े

रोटी सिर्फ पेट ही नहीं भरती किस्मत भी बदल देती है, जानिए रोटी के अनोखे टोटके

Updated on 24 March, 2019, 6:45
रोटी, कपड़ा और मकान यह इंसान की 3 सबसे पहली जरुरत है। रोटी के कुछ ऐसे उपाय हमें किताबों में मिलते हैं जो आश्चर्य में डाल देते हैं। आइए जानते हैं कुछ ऐसे टोटके रोटी के, जो हमारा नसीब भी बदल सकते हैं... 1 . घर की रसोई में पहली रोटी... आगे पढ़े

25 मार्च को रंगपंचमी पर फाग यात्रा में शामिल होंगे हुरियारे, खूब उड़ेगा गुलाल

Updated on 24 March, 2019, 6:30
पौराणिक मान्यताओं के अनुसार रंगपंचमी (Ranga Panchami) मनाने के पीछे आध्यात्मिक मान्यता है। ऐसा माना जाता है कि इस दिन खेले जाने वाले रंग और गुलाल हमारे सात्विक गुणों को बढ़ाते हैं और अवगुणों का नाश करते हैं। रंगपंचमी त्योहार की यह भी मान्यता है कि इस दिन जब रंगों को... आगे पढ़े

इस रंगपंचमी पर किस राशि के लिए कौन से रंगों का प्रयोग करना चाहिए (जानें अपनी राशिनुसार)

Updated on 24 March, 2019, 6:15
होली के ठीक पांच दिन बाद रंगपंचमी मनाई जाती है। रंगपंचमी होली के समापन का पर्व होता है जो चैत्र कृष्ण पंचमी को मनाया जाता है। इस वर्ष सोमवार, 25 मार्च 2019 को रंगपंचमी का पावन पर्व मनाया जा रहा है। रंगपंचमी यानी रंगों की मस्ती में डूबने का अवसर, जीवन... आगे पढ़े

आप नहीं जानते होंगे कि हम क्यों मनाते हैं रंगपंचमी, पढ़ें पौराणिक रोचक जानकारी

Updated on 24 March, 2019, 6:00
पौराणिक ग्रंथों के अनुसार होली ब्रह्मांड का एक तेजोत्सव है। तेजोत्सव से, अर्थात विविध तेजोत्सव तरंगों के भ्रमण से ब्रह्मांड में अनेक रंग आवश्यकता के अनुसार साकार होते हैं तथा संबंधित घटक के कार्य के लिए पूरक व पोषक वातावरण की निर्मित करते हैं। शास्त्रोंं केे अनुसार त्रेतायुग के प्रारंभ में... आगे पढ़े

इस वर्ष 24 मार्च को बड़ी गणेश चतुर्थी है, जानिए कैसे करें पूजन और व्रत

Updated on 23 March, 2019, 6:45
श्री गणेश जी को सभी तिथियों में चतुर्थी की तिथि सर्वाधिक प्रिय है। गणेश संकष्ट व्रत हर माह की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी के दिन आता है। चतुर्थी की तिथि माह में दो बार आती है, एक शुक्ल पक्ष में दूसरा कृष्ण पक्ष में। शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को विनायकी... आगे पढ़े

Visitor Counter